प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना 2024 संपूर्ण जानकारी:PM Vishwakarma Yojana 2024 Online Apply

विश्वकर्मा योजना के बारे में जानने से पहले विश्वकर्मा समुदाय किसे कहते हैं और उनके अंदर कौन-कौन आते हैं यह जानना जरूरी है। विश्वकर्मा समुदाय जो कलाकार हाथ के दस्तकार होते हैं उन्हें कहते जैसे लोहार, सोनार,कुम्हार, सुथार, मूर्तिकार, कारीगर, मिस्त्री इत्यादि।

विश्वकर्मा समुदाय के लोग यानि हथकरघा के लोग दिन प्रतिदिन कम होते जा रहे हैं। इसका सबसे बड़ा कारण है पैसे की कमी और इसमें जितनी मेहनत वे करते हैं, उसका पैसा नहीं मिल पाता और वे इसे मार्केटिंग पहुंच तक नहीं ले जा पाते हैं। इसलिए सरकार इस योजना का लाई है ताकि उनका आर्थिक मदद मिल सके और वह अपने काम को आगे ले जा सके।

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के तहत लाभार्थियों को प्रशिक्षण भी दिया जाएगा ताकि वे अपने गुणों को और बेहतर बना सकें और अपने कौशल का विकास कर सकें। उन्हें अपनी क्षमता और कौशल को बढ़ाने के लिए आधुनिक उपकरणों का उपयोग करना भी सिखाया जाएगा। इसके बारे में और गहराई से जानने के लिए पूरा आर्टिकल पढ़े ताकि आपको सारी जानकारी मिल सके।

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना 2024

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 17 सितंबर 2023 को विश्वकर्मा पूजा के दिन प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना का शुभारंभ किए थे और यह योजना पारंपरिक कारीगरों और शिल्पकारों के लिए शुरू किया गया है।इस योजना का पूरा नाम प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना है। यह योजना पूरी तरह से केंद्र सरकार द्वारा वित्त पोषित है। इस योजना में कुल ₹13000 से ₹15000 करोड़ खर्च किए जा रहे हैं। यह योजना पारंपरिक कारीगरों और शिल्पकारों में लगे कारीगरों को सरकारी सहायता प्रदान करने के लिए शुरू की गई है। इस योजना को 5 साल यानी 2023-24 से 2027-2028 तक बढ़ा दिया गया है। इस योजना के तहत लोगों को व्यावसायिक प्रशिक्षण दिया जाएगा और इसके साथ ही लोगों को प्रतिदिन ₹500 का वजीफा भी दिया जाएगा। भारत सरकार उन्हें अपने व्यवसाय और टूलकिट की खरीद के लिए 15000 रुपये की मदद करेगी जिसे लाभार्थियों को वापस करने की आवश्यकता नहीं है। यानी इस योजना का लाभ लाभार्थी 5 वर्ष तक उठा सकते हैं।

See also  Prime Minister Surya Ghar Free Bijali Yojana 2024:हर महीने मिलेगी 300 यूनिट मुफ्त बिजली

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के तहत लाभार्थियों को प्रशिक्षण भी दिया जाएगा ताकि वे अपने गुणों को और बेहतर बना सकें और अपने कौशल का विकास कर सकें। उन्हें अपनी क्षमता और कौशल को बढ़ाने के लिए आधुनिक उपकरणों का उपयोग करना भी सिखाया जाएगा। साथी इच्छुक लाभार्थियों को कम ब्याज पर ऋण भी दिया जाएगा। वही लाभार्थी इस योजना का लाभ उठा सकते है जो बढ़ई,धोबी, दर्जी, नाव निर्माता, कवच बनाने वाले, लोहार, मोची, सोनार, मूर्तिकार, कुम्हार, नाई, गुड़िया बनाने वाला, टोकरी बनाने वाले, मछली पकड़ने वाले यानी कोई भी कारीगर और शिल्पकार के अन्तर्गत अतें हैं।इस योजना के तहत लाभार्थियों को 300000 रुपए के ऋण 3% की ब्याज से ले सकते है,जिसे दो चरणों में दिया जाता है पहला चरण में 100000 रुपए का ऋण और दूसरे चरण में 200000 रुपए का ऋण प्रदान किया जाएगा।

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के लाभ (Benefits)

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के कई लाभ हैं, आइए चर्चा करते हैं-

  • इस योजना के तहत लाभार्थी को प्रशिक्षण दिया जाएगा जिसके लिए एक प्रमाण पत्र और आईडी कार्ड जारी किया जाएगा।
  • लाभार्थी को 5-7 दिनों यानी 40 घंटों के लिए बुनियादी प्रशिक्षण के माध्यम से कौशल प्रशिक्षण दिया जाएगा ताकि वे अपने कौशल का विकास कर सकें और इसके साथ ही जो लाभार्थी उन्नत प्रशिक्षण करना चाहता है वह 15 दिनों के लिए नामांकन कर सकता है।
  • लाभार्थियों को toolkit खरीदने के लिए सरकार उनको 15000 रुपए की राशि प्रदान करेगी,जिसे लाभार्थियों को लौटाने की जरूरत नहीं है।
  • लाभार्थियों को ट्रेनिंग के दौरान प्रतिदिन 500 रुपए दी जाएगी।
  • इस योजना के तहत लाभार्थियों को 300000 रुपए के ऋण 3% की ब्याज से ले सकते है,जिसे दो चरणों में दिया जाता है पहला चरण में 100000 रुपए का ऋण और दूसरे चरण में 200000 रुपए का ऋण प्रदान किया जाएगा।
See also  Prime Minister Housing Scheme 2.0:प्रधानमंत्री आवास योजना 2024 संपूर्ण जानकारी

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना का विशेषता (Features)

  • इस योजना के तहत लाभार्थियों को 5% की ब्याज दर पर 3 लाख रुपये का लोन दिया जाएगा।
  • इस योजना के जरिए शिल्पकारों और कारीगरों को बैंक से जोड़ा जाता है और उन्हें एमएसएमई के जरिए भी जोड़ा जाता है।
  • प्रशिक्षण लेने वाले लाभार्थियों को हर दिन 500 रुपये दिए जाएंगे।
  • इस योजना के तहत केवल विश्वकर्मा समुदाय के लोगों को ही लाभ मिलेगा।
  • सरकार ने इस योजना के लिए 13000 रुपये का प्रावधान किया है।

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना का उद्देश्य (Aims)

विश्वकर्मा समुदाय के लोग दिन पर दिन कम होते जा रहे हैं क्योंकि उनके पास पैसे की कमी होती है जिसके कारण वह अपने व्यवसाय को उच्च लेवल तक नहीं ले जा पाते हैं और साथ ही उनको अच्छी ट्रेनिंग नहीं मिल पाती है। इसलिए भारत सरकार ने विश्वकर्म योजना को लाए हैं। इस योजना का उद्देश्य विश्वकर्मा समुदाय के सभी लोगों को कामकाजी व्यवसाय में अच्छी ट्रेनिंग देनी है। और उनकी अपनी व्यवसाय शुरू करने में बहुत कम ब्याज पर ऋण उपलब्ध करवाना है।

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना की पात्रता (Eligibility)

  • लाभार्थी भारत का नागरिक होना पड़ेगा।
  • लाभार्थी विश्वकर्मा समुदाय से होना पड़ेगा।
  • आवेदन करने वाले लाभार्थी के पास से अपना प्रमाण पत्र होना पड़ेगा।
  • इस योजना के तहत परिवार में किसी का सरकारी नौकरी नहीं होना हो।
  • योजना का लाभ परिवार में किसी एक को ही मिल पाएगा।
  • लाभार्थी के पास कोई सरकारी नौकरी नहीं होना चाहिए।

प्रधानमंत्री विश्वकर्म योजना का महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • वोटर कार्ड
  • आधार कार्ड
  • ई श्रम कार्ड
  • मजदूरी कार्ड
  • राशन कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • निवास प्रमाण पत्र
  • जॉब कार्ड जाति
  • प्रमाण पत्र।
See also  Prime Minister Kisan Samman Nidhi Yojana 2024 Full details:इस दिन आयेगी 17वीं किस्त

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना का ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

  • बसे पहले प्रधानमंत्री विश्वकर्म योजना का ऑफिसियल वेबसाइट https://pmvishwakarma.gov.in पर जाए।
  • उसके बाद होम पेज पर बने लोगों बटन पर क्लिक कर के CSC पोर्टल पर लॉगइन कीजिए।
  • इसके बाद आपके सामने एप्लीकेशन फ्रॉम खुल जाएगा।
  • उसके बाद आवेदन फार्म पर अपना मोबाइल नंबर और आधार नंबर डालने हैं और सबमिट करनी है।
  • उसके बाद और भी मांगे गए जानकारी को ध्यानपूर्वक भरे।
  • इसके बाद डॉक्यूमेंट को अपलोड करें।
  • अपलोड करने के बाद विश्वकर्मा सर्टिफिकेट को डाउनलोड कर लीजिए।
  • सर्टिफिकेट में एक आपको डिजिटल आईडी मिलेगा जिसका उपयोग करके आप लॉगिन कर सकते हैं।
  • उसके बाद लोगों बटन पर क्लिक करके अपना रजिस्टर मोबाइल नंबर डालकर लॉगिन करलें और आगे की प्रक्रिया को पूर्ण करें।

Q&A

Q. प्रधानमंत्री विश्वकर्म योजना में कौन जातियों को लाभ दिया जाएगा?

Ans:- लोहार, सोनार,कुम्हार, सुथार, मूर्तिकार, कारीगर, मिस्त्री इत्यादि।

Q. प्रधानमंत्री विश्वकर्म योजना में कितने प्रतिशत की ब्याज दी जाएगी?

Ans:- 5% की ब्याज दि जाएगी।

Q. प्रशिक्षण अवधि के दौरान लाभार्थियों को हर माह कितनी धनराशि दी जाएगी?

Ans:- Rs. 500

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *