प्रधानमंत्री जन धन योजना संपूर्ण जानकारी PRADHAN MANTRI JANDHAN YOJANA FULL INFORMATION

प्रधानमंत्री जन धन योजना (PMJDY)

प्रधानमंत्री जन धन योजना की शुरुआत 28 अगस्त 2014 को हुई थी। प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत गरीब और कम आय वाले लोगों को वित्तीय सहायता प्रदान की जानी है। इस योजना का उद्देश्य देश भर के सभी लोगों को बैंक खाते खोलना और बैंकिंग सुविधाएं प्रदान करना है। इसमें कहा गया है कि परिवार के करीब दो सदस्यों को बैंक खाता खुलवाना होगा। इसके तहत प्रेषण, क्रेडिट, पेंशन, बीमा आदि सुविधाएं भी प्रदान की जाएंगी। प्रधानमंत्री जनधन योजना की तारीफ गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने भी की है। प्रधानमंत्री जनधन योजना 7.5 करोड़ वंचित परिवारों के बैंक खाता खोलने के लक्ष्य से 26 जनवरी 2015 को शुरू किया गया था। यह योजना 31 जनवरी 2015 तक लगभग 12.54 करोड़ बैंक खाता खोलने में सफल रही। 10000 करोड़ प्रधान मंत्री जनधन योजना और 1 हफ्ते में 1,80,96,130 बैंक खाते खोले गए और इन उपलब्धियों के लिए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड के द्वारा प्रमाणित किया गया।

20 मार्च 2020 को भारत में कोविड-19 के प्रकोप के समय पर भारत के वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने महिलाओं को पैसा देने की घोषणा की, उन्होंने कहा अगले 3 महीना तक प्रत्येक महिला जनधन खाता धारकों को 500 रुपए दिए जाएंगे। ताकि लोगों को थोड़ी मदद हो सकें। कोविड 19 के प्रकोप के कारण वित्तीय कठिनाइयों को रोकने के लिए भारत सरकार ने 1.70 लाख करोड़ रुपए का राहत पैकेज निकालें। लॉकडाउन के कारण भारतीय अर्थव्यवस्था को लगभग 9 करोड़ नुकसान होने का अनुमान लगाया गया है। 3 अगस्त 2020 तक प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत 40 करोड़ से अधिक बैंक खाता खोले गए। प्रधानमंत्री जन धन योजना एक वित्तीय समावेशन अभियान है जो भारत में प्रत्येक परिवार को एक बुनियादी बैंक खाता खोलकर बैंकिंग सुविधाएं प्रदान करता है।

रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया 2023 के आंकड़ों के अनुसार, प्रधानमंत्री जनधन योजना खातों में कुल शेष राशि 2 लाख करोड रुपए को पार कर गई है। प्रधानमंत्री जन धन योजना के साथ लगभग 48.70 करो लाभार्थी जुड़े हुए हैं,जिनमें से 27.08 करोड़ सिर्फ महिलाएं हैं और 13.70 करोड़ आदमी हैं। वर्ष 2022-23 में इसने अपना रिकॉर्ड तोड़ दिया क्यूंकि जमा में 50000 करोड़ रुपए जोड़ा गया है।

See also  Prime Minister Kisan Samman Nidhi Yojana 2024 Full details:इस दिन आयेगी 17वीं किस्त

प्रधानमंत्री जनधन योजना 7.5 करोड़ वंचित परिवारों के बैंक खाता खोलने के लक्ष्य से 26 जनवरी 2015 को शुरू किया गया था। यह योजना 31 जनवरी 2015 तक लगभग 12.54 करोड़ बैंक खाता खोलने में सफल रही। 10000 करोड़ प्रधान मंत्री जनधन योजना और 1 हफ्ते में 1,80,96,130 बैंक खाते खोले गए और इन उपलब्धियों के लिए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड के द्वारा प्रमाणित किया गया।

प्रधानमंत्री जन धन योजना का अवलोकन

शुरू                        – 28 अगस्त 2014
योजना का नाम        – प्रधानमंत्री जन धन योजना
सरकारी मंत्रालय      – वित्त मंत्री

लाभार्थी                   – गरीब लोग

प्रधानमंत्री जन धन योजना के लाभ

  • दुर्घटना की स्थिति में आपको 1 लाख रुपये का बीमा मिलेगा।
  • जमा राशि पर ब्याज।
  • मिनिमम बैलेंस बनाए रखने की कोई जरूरत नहीं है। इसमें शून्य शेष राशि से भी खाता खोला जा सकता है।
  • भारत के किसी भी कोने में पैसे भेजने की सुविधा। दुर्घटना बीमा डेबिट कार्ड का उपयोग 45 दिनों में कम से कम एक बार करना होगा।
  • 30000 रुपये का जीवन बीमा मिलेगा।
  • इसमें स्वदेशी डेबिट कार्ड (RuPay) मिलेगी।
  • इसका लाभ ग्रामीण और शहरी दोनों उठा सकते हैं।
  • प्रधानमंत्री जनधन योजना प्रत्येक लाभार्थी को बुनियादी बैंकिंग खाता प्रदान करती है।
  • रु. आधार से जुड़े खाते के लिए 5000 की ओवरड्राफ्ट सुविधा।
  • 15 अगस्त 2014 से 26 जनवरी 2015 के बीच खोले गए खातों के लिए 30,000 रुपये का जीवन बीमा कवर प्रदान किया जाता है।
See also  प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना 2024 संपूर्ण जानकारी:PM Vishwakarma Yojana 2024 Online Apply

उपलब्धियां (Achievements)

अभी तक जनधन खातों में लगभग 50 करोड़ से ज्यादा लोगों को शामिल किया गया है, इनमें ग्रामीण क्षेत्र से लगभग 67% लोगों ने खाता खोले हैं और इन खुले हुए खातों के लिए लगभग 34% करोड़ RuPay जारी किए गए हैं। रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया 2023 के आंकड़ों के अनुसार, प्रधानमंत्री जनधन योजना खातों में कुल शेष राशि 2 लाख करोड रुपए को पार कर गई है। प्रधानमंत्री जन धन योजना के साथ लगभग 48.70 करो लाभार्थी जुड़े हुए हैं,जिनमें से 27.08 करोड़ सिर्फ महिलाएं हैं और 13.70 करोड़ आदमी हैं। वर्ष 2022-23 में इसने अपना रिकॉर्ड तोड़ दिया क्यूंकि जमा में 50000 करोड़ रुपए जोड़ा गया है। हम ऊपर पहले ही पढ़ चुके हैं कि प्रधानमंत्री जनधन योजना का रिकॉर्ड गिनीज बुक में भी किया गया है इसका कारण है 7.5 करोड़ वंचित परिवारों के बैंक खाता खोलने के लक्ष्य से 26 जनवरी 2015 को शुरू किया गया था। यह योजना 31 जनवरी 2015 तक लगभग 12.54 करोड़ बैंक खाता खोलने में सफल रही। 10000 करोड़ प्रधान मंत्री जनधन योजना और 1 हफ्ते में 1,80,96,130 बैंक खाते खोले गए और इन उपलब्धियों के लिए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड के द्वारा प्रमाणित किया गया।

प्रधानमंत्री जन धन योजना के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड,
  • पैन कार्ड,
  • स्थायी पता प्रमाण,
  • वोटर कार्ड,
  • ड्राइविंग लाइसेंस,
  • पासपोर्ट साइज फोटो,
  • जन्म प्रमाण पत्र।

जन धन योजना का पेशकश करने वाले बैंक

  • भारतीय स्टेट बैंक,
  • बैंक ऑफ बड़ौदा,
  • बैंक ऑफ इंडिया,
  • आंध्रा बैंक,
  • इंडियन बैंक,
  • आईडीबीआई बैंक,
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र,
  • पंजाब नेशनल बैंक,
  • केनरा बैंक,
  • कॉर्पोरेशन बैंक,
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया,
  • सेंट्रल बैंक,
  • ऑफ इंडिया,
  • इलाहाबाद बैंक।

जन धन योजना का मुख्य उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य यह है की वह लोग जो आर्थिक रूप से कमजोर है जैसे कि गरीब और कम पैसे कमाने वाले लोग इन सभी को आर्थिक रूप से सहयोग करना और इनकी स्थिति को सुधारना।

See also  मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना की पूरी जानकारी II Mukhiyamantri Sikho Kamao Yojana 2024

जन धन योजना के लिए पात्रता

  • लाभार्थी को भारतीय होना पड़ेगा।
  • गरीब या काम आय कमाने वाले लोग इसका लाभ उठा सकते है।

प्रधान मंत्री जनधन योजना का क्रियान्वयन चरण

इसका 3 चरण हैं-

  1. 15 अगस्त 2014 से 14 अगस्त 2015 के बीच प्रधान मंत्री जनधन योजना लागू की गई थी,जिसका उद्देश्य देश के सभी घरेलू परिवारों के लिए कम से कम एक बुनियादी बैंकिंग खाता साथ में RuPay डेविड कार्ड और बैंकिंग सुभिदाएं प्रदान करना था। जिसमें 1 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा मिलेगा। इस दौरान वित्तीय क्रेडिट कार्ड लाने की भी प्रस्ताव रखा गया।
  2. 15 अगस्त 2015 से 14 अगस्त 2018 तक के चरण का उद्देश्य बिजनेस कॉरेस्पोंडेंट के माध्यम से लोगों को सूक्ष्म बीमा और असंगठित क्षेत्र को स्वालंबन जैसी पेंशन उपलब्ध कराना था।
  3. प्रधानमंत्री जनधन योजना ₹5000 रुपए मौजूदा ओवड्राफ्ट सीमा को बढ़ाकर ₹10000 रुपए कर दिया और साथी हर घर में 2 दो लोगों का बैंक खाता खोलने पे ध्यान केंद्रित किया। ओवरड्राफ्ट की सुविधा पाने के लिए उम्र 18 से 60 को बढ़कर 18-65 वर्ष कर दिया गया। और इसी के तहत दुर्घटना बीमा की राशि को भी 1 लाख से 2 लाख तक बढ़ा दिया गया,किंतु जिनका खाता 28 अगस्त 2018 के बाद खोली गई है उनको ही 2 लाख का लाभ मिलेगा।

Q&A

Q. पीएम जनधन योजना के लिए न्यूनतम बैलेंस कितना होना चाहिए?

Ans:- इसकी कोई सीमा नहीं है।

Q. प्रधानमंत्री जन धन योजना में कितना पैसा जमा किया जा सकता है?

Ans:- 50000

Q. प्रधानमंत्री जन धन योजना से पैसे कैसे निकाल सकते है?

Ans:- डायरेक्ट बैंक जाकर या RuPay डेबिट कार्ड का उपयोग करके।

Q. 28 अगस्त 2018 के बाद खोली गई खाता को दुर्घटना बीमा की राशि कितनी मिलेगी?

Ans:- 2 लाख

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *